Menu

Prajnesh Gunneswaran broke into men’s singles top-100 for the first time in his career – प्रजनेश ने हासिल की करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग, ये कारनामा करने वाले बने तीसरे भारतीय…

भारत के टेनिस खिलाड़ी प्रजनेश गुणेश्वरन ने एटीपी रैंकिंग में एकल वर्ग में शीर्ष 100 में जगह बनाकर इतिहास रच दिया है। प्रजनेश 6 स्थान की छलांग लगाकर एटीपी रैंकिंग में 97वें नंबर पर पहुंच गए हैं। इसके साथ ही वह ये कारनामा करने वाले तीसरे भारतीय टेनिस खिलाड़ी बन गए हैं। इससे पहले भारत की ओर से सोमदेव देववर्मन और युकी भांबरी एकल में टॉप 100 में जगह बना चुके हैं।
प्रजनेश पिछले कुछ समय से लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और बीते सप्ताह वह एटीपी चेन्नई चैलेंजर के सेमीफाइनल में पहुंचे थे। वह यदि शीर्ष 100 में बने रहते हैं तो ग्रैंडस्लैम एकल मुख्य ड्रॉ में उन्हें सीधे प्रवेश मिल जाएगा। दूसरी तरफ युकी भांबरी 156वें और रामकुमार रामनाथन 128वें स्थान पर हैं। साकेत माइनेनी 255वें स्थान पर हैं। युगल वर्ग में रोहन बोपन्ना 37वें, दिविज शरण 39वें, लिएंडर पेस 75वें , जीवन नेदुंचेझियान 77वें और पूरव राजा 100वें स्थान पर हैं । डब्ल्यूटीए रैंकिंग में अंकिता रैना भारत की शीर्ष एकल खिलाड़ी के तौर पर 165वें स्थान पर है।

गौरतलब है कि प्रजनेश गुणेश्वरन ने पिछले साल एशियन गेम्स में टेनिस की पुरुष सिंगल स्पर्धा में कांस्य पदक हासिल किया था। वह एशियन गेम्स में सिंगल्स में मेडल जीतने वाले छठे भारतीय हैं। प्रजनेश मूल रूप से चेन्नई के रहने वाले हैं और उनकी उम्र 29 साल है। खास बात ये है कि प्रजनेश पांच साल की उम्र से ही टेनिस खेल रहे हैं।
Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

..

(साभार :  एजेन्सी / संवाददाता  / अन्य न्यूज़ पोर्टल )

ताजा खबरों के अपडेट लगातार पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें| आप हमें ट्वीटर पर भी फॉलो कर सकते हैं|

loading...

Like us on Facebook